2022 में महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प

आप एक महिला उद्यमि हैं और महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प तलाश रही हैं तो ये पोस्ट खास आपके लिए ही बनाई गई है। तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़िए।

देश का लघु, सूक्ष्म और मध्यम आकार का व्यापार क्षेत्र हाल के वर्षों में तेजी से बढ़ा है। वे महिलाएं, जो लगातार औद्योगिक क्षेत्र में योगदान करती हैं, इस प्रगति के लिए बहुत अधिक श्रेय की पात्र हैं।

कुछ साल पहले, Google Ben की रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत में 20% बिज़नेसो पर महिलाओं का नियंत्रण है।

ये महिलाएं पारंपरिक सीमाओं को तोड़ते हुए आर्थिक क्षेत्र में अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन कर रही हैं।

बिज़नेस में उतार-चढ़ाव से गुजरना एक व्यवसायी के लिए काफी विशिष्ट है।

यदि आप एक महिला हैं और आप भी अपना बिज़नेस सुरु करना चाहते हैं, मगर आपके साथ भी वित्तीय समस्याएँ भी हैं तो व्यावसायिक ऋण आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हैं।

निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों सहित भारत के शीर्ष लोन देने वाले संस्थानों ने व्यापार क्षेत्र में महिलाओं के सशक्तिकरण का समर्थन करने के लिए कई लोन कार्यक्रम शुरू किए हैं।

जिनसे आप महिला उद्यमियों के लिए बनाये गए बिज़नेस लोन की कम ब्याज दरों का लाभ उठा सकते हैं।

हम इस पोस्ट में महिलाओं के लिए रियायती ब्याज दरों (Low interest rates) पर महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प योजनाओं के बारे में विस्तार से बताएँगे ।

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन के लिए आवेदन कैसे करें, यह जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े।

Contents hide

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प

1. प्रधानमंत्री मुद्रा लोन

नरेंद्र मोदी की सरकार महिला उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। वे जानते हैं कि यह तभी संभव है जब व्यवसायी महिलाएं आसानी से बिज़नेस लोन प्राप्त कर सकें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने 2015 में सूक्ष्म इकाई विकास पुनर्वित्त एजेंसी (Micro Units Development Refinance Agency) स्थापित की थी, जो कि मुद्रा लोन का ही आधिकारिक नाम है।

मुद्रा ऋणों का लाभ यह है कि ग्राहक अपने मौजूदा व्यवसायों का विस्तार करने के लिए लोन के अलावा एमएसएमई (MSME) क्षेत्र में भी नए बिज़नेस लोन प्राप्त कर सकते हैं।

महिला उद्यमी 25 NBFCs, 27 सरकारी बैंकों, 17 निजी बैंकों, 31 ग्रामीण बैंकों और 4 सहकारी बैंकों से पीएमएमवाई मुद्रा लोन योजना के माध्यम से 10 लाख मुद्रा लोन के लिए आवेदन कर सकती हैं।

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन की विशेषताएँ:

  • मुद्रा लोन की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह महिला उद्यमियों के लिए ब्याज दरों पर छूट प्रदान करता है।
  • इसमें आपको कोई सिक्योरिटी फीस जमा कराने की ज़रूरत नहीं है, यह कौलैटरल- फ्री लोन प्रदान करता है। 
  • यह टर्म लोन / ओवरड्राफ्ट लोन है।
  • इसमें तीन तरह की लोन कैटेगरी है – शिशु, किशोर, और तरुण।
  • शिशु में आप 50000 रु, किशोर में 5 लाख तक, और तरुण में आप 10 लाख तक का लोन ले सकते हैं।
  • इसमें लोन की भुगतान अवधि 5 वर्ष तक दी गई है।
  • इसमें आपको मंज़ूर हुई लोन राशि का 0.50% तक प्रोसेसिंग फीस देनी पड़ सकती है।
  • प्रधानमंत्री मुद्रा लोन शहरी हो या ग्रामीण, किसी भी क्षेत्रों में रहने वाली महिलाओं के लिए लोन उपलब्ध कराता है।

Also, read: SBI E Mudra loan apply करें 10 लाख तक तुरंत लोन पाएं

2. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की सेंट कल्याणी योजना

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की एक अनूठी लोन योजना है जिसे संत कल्याणी योजना कहा जाता है। इसका लक्ष्य महिलाओं को उनके उद्यमशीलता के लक्ष्यों को आगे बढ़ाने और उनके व्यवसायों को बढ़ाने में सहायता करना है।

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया उन्हें इस कार्यक्रम के तहत डीएचएस लोन लाभ प्रदान करता है।जिससे कार्यशील महिलाएं इस लोन का उपयोग, उपकरण खरीद, या अन्य आवश्यक व्यावसायिक आवश्यकताओं के लिए कर सकती हैं।

आपको बता दें कि महिला उद्यमिता और सशक्तिकरण के लिए में ऐसे कई योजनाए चल रहे हैं। इन योजनाओं में भाग लेने वाली महिलाएं अपना खुद का व्यवसाय बनाने और आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनने में सक्षम होंगी।

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की विशेषताएँ:

  • यह आपको 7.70% – 7.95% प्रति वर्ष की ब्याज दर पर मिलता है।
  • इसका उद्देश्य बिज़नेस में प्लांट और मशीनरी/ उपकरण खरीदने के लिए, या रोज़ाना होने वाले खर्चों को पूरा करने के लिए, इत्यादि, कामों के लिए तुरंत आर्थिक सहायता प्रदान करना है।
  • यह आपको विभिन्न प्रकार के लोन जैसे टर्म लोन, ओवरड्राफ्ट, वर्किंग कैपिटल फैसिलिटी, लेटर ऑफ क्रेडिट / लेटर ऑफ गारंटी, आदि प्रदान करता है।
  • इससे आप 1 करोड़ रु. तक का लोन ले सकते हैं।
  • इसकी प्रोसेसिंग फीस शून्य है।
  • यह आपको CGTMSE कवरेज भी उपलब्ध कराता है।
  • इसमें कोलैटरल/ सिक्योरिटी या थर्ड पार्टी गारंटी की जरुरत नहीं पड़ती, जैसा कि CGTMSE के गारंटी कवर के तहत कवर किया गया है।
  • यह आपको मशीनरी/उपकरण, बैंक क्लॉज़ के साथ स्टॉक,आदि का इंश्योरेंस भी देता है।
  • ग्रामीण और कुटीर उद्योगों, एमएसएमई और खेती, रिटेलिंग और सरकार समर्थित फर्मों में काम करने वाली महिला उद्यमी बिज़नेस लोन का लाभ उठा सकती हैं।
  • यह ग्रामीण और कुटीर उद्योगों, एमएसएमई, खेती, खुदरा और सरकार समर्थित व्यवसायों में कार्यरत महिला उद्यमियों के लिए बिज़नेस लोन उपलब्ध कराती है ।

Also, read: Bandhan bank se loan kaise le? Jankari in hindi

3. भारतीय महिला बैंक व्यवसाय ऋण

भारतीय महिला बैंक की स्थापना विशेष रूप से महिलाओं को उनकी कार्यशील पूंजी बढ़ाने या व्यवसाय के विस्तार के लिए ऋण प्राप्त करने में सहायता करने के लिए की गई थी।

बैंक का प्रबंधन महिलाओं द्वारा किया जाता है, और केवल महिलाओं को ही ऋण दिया जाता है।

इस बैंक की नींव ने इसे तंजानिया और पाकिस्तान के साथ तीन देशों में से एक बना दिया, जिसमें विशेष रूप से महिलाओं के लिए एक बैंक था।

जो महिलाएं मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस की मालिक हैं, वे भारतीय महिला बैंक से 20 करोड़ रुपये तक के ऋण के लिए आवेदन कर सकती हैं।

विशेष बिज़नेस लोनो पर अच्छी ब्याज दरों की पेशकश की जाती है, और बैंक CGTMSE बीमा के तहत  1 करोड़ रुपये तक के संपार्श्विक-मुक्त ऋण (Collateral-free Loan) भी प्रदान करता है, जो कि इसे महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का सबसे अच्छा विकल्प है।

वर्तमान में भारतीय महिला बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में विलय हो गया है।

भारतीय महिला बैंक द्वारा चार प्रकार के लोन दिये जाते है।

इसमें श्रृंगार, अन्नपूर्णा, एसएमई इजी और परवरिश योजनायें भी शामिल हैं।

भारतीय महिला बैंक (बीएमबी) श्रृंगार लोन

भारतीय महिला बैंक (बीएमबी) से श्रृंगार लोन महिलाओं के स्वामित्व वाले उद्यमों जैसे ब्यूटी सैलून, सैलून और एसपीए के लिए उपकरणों की खरीद, निर्माण और खरीद के लिए दिया जाता है।

  • 20 से 60 वर्ष की आयु की महिलाएं इन ऋणों के लिए पात्र हैं।
  • संपार्श्विक (Collateral-free) की कोई आवश्यकता नहीं है। 
  • और चुकौती अवधि 7 साल तक की  है।

बीएमबी लोन छोटे और मध्यम उद्यम के लिए

एसएमई बीएमबी आसान क्रेडिट छोटे और मध्यम व्यवसाय चलाने वाली महिलाओं के लिए उपलब्ध है।

  • लोन लघु और मध्यम उद्यम (एसएमई) की प्रोफाइल और जरूरतों के आधार पर दिया जाता है।
  • अधिकतम ऋण चुकौती अवधि 7 वर्ष है।
  • 1 करोड़ रुपये तक के ऋण के लिए, कोई संपार्श्विक(Collateral-free) की आवश्यकता नहीं है।
  • इस श्रेणी के तहत 20 करोड़ तक का ऋण प्राप्त किया जा सकता है, और यह मुख्य रूप से सेवाओं, निर्माताओं और व्यापारियों के लिए है।

बीएमबी अन्नपूर्णा लोन

बीएमबी अन्नपूर्णा लोन खाद्य खानपान सेवाओं वाली महिलाओं के लिए है।

  • यह लोन 18 से 60 वर्ष की आयु के बीच की महिलाओं के लिए उपलब्ध है।
  • ऋण चुकौती के लिए तीन वर्ष तक की अनुमति है।
  • संपार्श्विक के रूप में किसी सुरक्षा की आवश्यकता नहीं है।
  • जो महिलाएं वित्तीय सहायता की इच्छा रखती हैं, वे इस ऋण के लिए एक खानपान व्यवसाय शुरू करने के लिए आवेदन कर सकती हैं जो दोपहर के भोजन की पेशकश करेगी।

बीएमबी परवरिश लोन

  • बीएमबी परवरिश लोन उन महिलाओं के लिए है जो डेकेयर (daycare) सुविधाएं खोलना चाहती हैं।
  • यह लोन 21 से 55 वर्ष की आयु के बीच की महिला उधारकर्ताओं के लिए उपलब्ध है।
  • ऋण की 4 साल तक की पेबैक अवधि के दौरान संपार्श्विक की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • ऋण का उपयोग डेकेयर सेंटर शुरू करने, उपकरण और बर्तन खरीदने और अन्य सुविधाएं बनाने के लिए किया जा सकता है।

Read More – https://www.fincash.com/l/loan/bharatiya-mahila-bank-business-loan

4. केनरा बैंक की सिंड महिला शक्ति योजना

महिला उद्यमियों के सशक्तिकरण का समर्थन करने के लिए सिंडिकेट बैंक जिसका अब केनरा बैंक में विलय हो गया  द्वारा सिंड महिला शक्ति योजना शुरू की गई थी।

क्षेत्रीय प्रबंधक अनिल गोयल का दावा है कि इस कार्यक्रम का लक्ष्य अपनी महिला उद्यमियों को लोन देना है ताकि वे अपना उद्यम और इकाइयां शुरू कर सकें।

  • इस कार्यक्रम के तहत कम ब्याज दर पर अधिकतम 5 लाख रुपये तक का लोन प्रदान किया जाएगा।
  • हालांकि, 10 लाख रुपये तक का ऋण, केवल आधार दर पर पेश किए जाते हैं।
  • गोयल का दावा है कि 10 लाख रुपये से ज्यादा के कर्ज पर लागू होने वाली ब्याज दर में 0.25 फीसदी की छूट दी गई है।
  • तथापि, 10 लाख रुपये के तहत ऋण के लिए, समर्थक संपार्श्विक आवश्यक नहीं है।

यदि आपकी कंपनी को भी सिंड महिला शक्ति योजना के तहत लोन लेना है, तो उसके कम से कम एक या अधिक शेयरधारक महिलओं की कम से कम 50% हिस्सेदारी  होनी चाहिए।

5. स्त्री शक्ति योजना

स्त्री शक्ति योजना महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का सबसे अच्छा विकल्प है। भारतीय स्टेट बैंक ने मुख्य रूप से महिलाओं को वित्तीय सहायता और रियायतें दरों पर लोन के लाभों की पेशकश करने के लिए स्त्री शक्ति लोन योजना शुरू किया।

भारतीय स्टेट बैंक की स्त्री शक्ति पैकेज योजना के तहत लोन लेने का मापदंड़ यह है कि उद्यमी के पास महिलाओं के स्वामित्व वाली पूंजी का 50% या उससे अधिक होना चाहिए। यानी इस योजना के तहत उन बिजनेस ओनर्स को लोन ऑफर किया जाएगा, जो फीमेल-स्वामित्व वाले हैं।

  • श्रेणी के आधार पर मार्जिन में अधिकतम 5% की कमी की जा सकता है। 
  • अगर महिला 2 लाख रुपये या इससे ज्यादा का लोन लेती है तो ब्याज दर में 0.5 फीसदी की कमी आएगी।
  • एमएसएमई (MSME) के मामले में जमानत की कोई आवश्यकता नहीं है, भले ही 5 लाख रुपये तक का ऋण लिया गया हो।
  • कम मार्जिन और ब्याज दरों के साथ सावधि ऋण (Term loan) और कार्यशील पूंजी (Working capital) सुविधाएं उपलब्ध हैं।
  • एमसीएलआर (MCLR) की ब्याज दर सालाना 4% है।
  • एमएसएमई (MSME) में पंजीकृत कंपनियां 50,000 रु से 25 लाख रुपये तक के ऋण के लिए पात्र हो सकती हैं।
  • व्यवसायों (Business Enterprises) के पास स्त्री शक्ति योजना के तहत 50,000 से 2 लाख रुपये तक के लोन लेने का विकल्प है।

6. स्टैंड-अप इंडिया लोन योजना

स्टैंड-अप इंडिया का उद्देश्य अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) समुदायों से संबंधित महिलाओं और लोगों के बीच उद्यमशीलता को बढ़ावा देना है।

और उन्हें सेवा या व्यावसायिक क्षेत्रों सहायता प्रदान करना और कृषि से सम्बंधित गतिविधियों में ग्रीनफील्ड उद्यम शुरू करने में सक्षम बनाना है।

स्टैंड-अप इंडिया लोन योजना का उद्देश्य

  • इसका मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति की महिलाओं और समूहों को अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • विनिर्माण (Manufacturing), सेवा (service), या व्यापार क्षेत्रों में नए व्यवसायों के साथ-साथ कृषि गतिविधियों में लगे लोगों को पैसा उधार देना।
  • अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों की प्रत्येक बैंक शाखा में कम से कम एक अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति लोन लेने की इच्छुक महिला को 10 लाख से 1 करोड़ रुपये के बीच लोन प्रदान करना।

ऋण कौन प्राप्त कर सकता है?

  • यह लोन अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और/या महिला उद्यमी जो कि किसी व्यवसाय की मालिक हो और कम से कम 18 वर्ष के हों को मिलेगा ।
  • यह लोन केवल परियोजनाएं के लिए उपलब्ध हैं। 
  • इस संदर्भ में, “ग्रीनफ़ील्ड” शब्द का अर्थ किसी लाभार्थी के निर्माण (Manufacturing), सेवा, व्यापार या कृषि के क्षेत्रों में प्रथम प्रयास के साथ संबंधित कार्यों से है।
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के सदस्य और/या एक महिला उद्यमी के पास गैर-व्यक्तिगत फर्मों में 51% मतदान और नियंत्रण शेयर होना चाहिए।
  • उधारकर्ता का बैंकों या अन्य वित्तीय संस्थानों को ऋण नहीं चुकाने का इतिहास नहीं होना चाहिए।

7. देना शक्ति योजना

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन के विकल्पो में देना शक्ति योजना का भी एक नाम है।

महिलाओं को सशक्त बनाने और उन्हें और अधिक स्वतंत्र बनाने के लिए देना बैंक ने एक अनूठी लोन योजना बनाया है जिसका नाम देना शक्ति योजना (Dena Shakti Scheme) है।

इस कार्यक्रम के माध्यम से, 20 लाख रुपये तक के लोन बहुत ही उचित दरों पर दिए जाते हैं। यह योजना केवल महिलाओं के लिए है जिससे वे अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

  • महिला व्यापार मालिकों को इस कार्यक्रम के तहत 25% ब्याज दर छूट प्राप्त होती है।
  • कुल ऋण चुकौती के लिए 10 वर्ष तक का समय दिया जाता है।
  • ये लोन मैन्युफैक्चरिंग, रिटेल ट्रेडर्स, माइक्रोक्रेडिट, छोटे बिजनेस और कृषि के लिए भी उपलब्ध हैं।

Also, read: Money view Loan Details in Hindi: 5 Lakh तक Instant Personal loan पाएं

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन की विशेषताएँ

1. आसानी से उपलब्ध: यदि आपके पास एक मजबूत बिज़नेस योजना, और एक अच्छा क्रेडिट इतिहास है, तो सस्ते ब्याज दर पर आपका बिज़नेस लोन आवेदन ऋणदाता द्वारा आसानी से अनुमोदित किया जाएगा।

2. बिना संपार्श्विक ऋण: महिलाओ के लिए जो लोन दिया जाता है वो कोलेटरल फ्री लोन होता है। अर्थात आपको कुछ भी कोलेटरल चार्ज नहीं देना होता है। 

3. लोन राशि की कोई न्यूनतम सीमा निर्धारित नहीं है, इसमें महिला उद्यमी को अधिक से अधिक लोन देने का प्रयास किया जाता है। अधिकतम लोन राशि 5 करोड़ या उससे अधिक भी बढ़ाई जा सकती है। 

4. इसमें महिला उद्यमी को लोन भुगतान अवधि 12 महीने से 5 साल तक दिया जाता है।

5. महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन में कई प्रकार के लोन मिलते हैं, जैसे – ओवरड्राफ्ट लोन, टर्म लोन, अन-सिक्योर्ड लोन, वर्किंग कैपिटल लोन आदि।

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन कैसे करें अप्लाई ?

अभी तक आपने महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन के विकल्पों को जाना , तो आइए अब आपको बताते हैं कि इन बिजनेस लोन के लिए अप्लाई कैसे कर सकते हैं।

  • सबसे पहले अपने लिए आदर्श ऋण देने वाली संस्था को खोजें।  खोजने के लिए ऑनलाइन रिसर्च करें।  उदहारण के लिए आपको प्रधानमंत्री मुद्रा लोन  से लोन लेना है।  इसके लिए आप ऑनलाइन सर्च करे “प्रधानमंत्री मुद्रा लोन”, फिर आपको उनकी आधिकारित वेबसाइट पे जाना है जैसे कि – https://www.mudra.org.in/
  • फिर आपको उनकी वेबसाइट पर जाकर, बिजनेस लोन सेक्शन में जाना है।
  • यहाँ बिजनेस लोन पेज पर आप सबसे पहले न्यूनतम योग्यता शर्तों को पढ़ें, और आवश्यक दस्तावेज़ों की सूची देखें।
  • फिर आपको अपनी डिटेल्स को भरना है और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करना है। 
  • उसके बाद, ऋणदाता आपकी जानकारी की जांच करेगा।
  • यदि आपकी जानकारी सही है, तो उनका एक प्रतिनिधि ऋण आवेदन प्रक्रिया के लिए आवश्यक कोई अतिरिक्त तथ्य प्राप्त करने के लिए आपसे संपर्क करेगा।
  • आपके द्वारा अतिरिक्त जानकारी देने के बाद ऋणदाता क्रेडिट विश्लेषण शुरू करेगा। इसके आधार पर वे आपको ऑफर लेटर देंगे। पत्र में ऋण राशि, ब्याज दर और किसी भी संभावित ऋण-संबंधी शुल्क जैसे विवरण शामिल होंगे।
  • इसपर आपको उचित संचार माध्यम से आपकी लिखित सहमति देनी पड़ेगी।
  • ऋण स्वीकार किए जाने के बाद, ऋणदाता अंततः आपके खाते में धनराशि जमा कर देगा।

Also, read: What is FamPay Card, and how to use it? Its features and benefits

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन के लिए जरूरी दस्तावेज़

  • पहचान प्रमाण में आप कोई भी सरकार द्वारा मान्यता पहचान पत्र दे सकते हैं जैसे :  आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आदि।
  • पता प्रमाण में आप रासन कार्ड, यूटिलिटी बिल, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र आदि दिखा सकते है। 
  • आय प्रमाण में सैलरी स्लिप, बैंक स्टेटमेंट देना पड़ेगा।
  • अगर आप ऑफलाइन आवेदन कर रहे हैं तो आवेदक को एप्लीकेशन फॉर्म और 2 नवीनतम पासपोर्ट साइज़ फोटो होने चाहिए।
  • साथ में आपको अपना बिज़नेस इनकॉर्पोरेशन सर्टिफिकेट भी दिखाना पड़ेगा। 
  • इसके अलावा बैंक/ लोन संस्थान द्वारा ज़रूरी अन्य कोई दस्तावेज।

अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल

महिलाओं के लिए कौन कौन से लोन हैं?

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन के विकल्प के रूप में – प्रधानमंत्री मुद्रा लोन, संत कल्याणी योजना, भारतीय महिला बैंक व्यवसाय ऋण, सिंड महिला शक्ति योजना, स्त्री शक्ति योजना, स्टैंड-अप इंडिया लोन योजना, देना शक्ति योजना आदि योजनाएँ हैं।

प्रधानमंत्री बिजनेस लोन कैसे ले?

मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) के तहत लोन के लिए आपको सरकार या बैंक शाखा में एक आवेदन जमा करना होगा। यदि आप अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, तो आपको कई तरह के अतिरिक्त दस्तावेज पेश करने होंगे, जैसे कि घर के स्वामित्व या किराए पर लेने का प्रमाण, रोजगार से संबंधित जानकारी, एक आधार नंबर और एक पैन नंबर।

बिना ब्याज का लोन कौन सा है?

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना केंद्र सरकार द्वारा एक ऐसी योजना चलाई जा रही है जिसके अंतर्गत स्ट्रीट वेंडर्स को बिना ब्याज़ के लोन उपलब्ध कराया जाता है। जिससे वे अपना खुद का कोई व्यवसाय शुरू कर सके।

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published.